for silent visitors

View My Stats

Tuesday, June 15, 2010

चंदा मामा


चंदा मामा आ जाईए मुन्ने को सुला जाईए।
मुन्ना मेरा सो जाएगा, सपनों में खो जाएगा।।
निंदिया रानी झूला झूलाएगी, मम्मा उसको लोरी सुनाएगी।
सपने में परियां आएंगी अपने देश की सैर कराएगी।।
बचपन में मैं भी ऐसे गाने सुना करती थी अपनी मम्मी, मौसी और नानी के मुंह से
चंदा मामा दूर के, पुआ पकाए गुड़ के..
ऐसे ही एक दिन अपने बेटे को सुलाते हुए ऊपर लिखी हुई लाइनें अपने आप बन गई तो दिल ने कहा कि आपसे भी शेयर कर लूं। बताईएगा जरूर की कैसी लगी।